जून 15, 2017

टाटा मोटर्स तथा टाटा कैपिटल से टाटा टेक्नोलॉजीस में महत्वपूर्ण माइनॉरिटी हिस्सेदारी हासिल करने के लिए वारबर्ग पिन्कस $360 मिलियन निवेश करेगी

मुंबई: निवेश वृद्धि पर फोकस करने वाली अग्रणी वैश्विक निजी इक्विटी फर्म वारबर्ग पिन्कस की एक सहयोगी ने इंजीनियरिंग आउटसोर्सिंग तथा उत्पाद विकास आईटी सेवा में वैश्विक लीडर टाटा टेक्नोलॉजीस में लगभग 43 प्रतिशत इक्विटी हिस्सेदारी के लिए लगभग यूएस$360 मिलियन के निवेश की प्रतिबद्धता जताई है। वारबर्ग पिन्कस, टाटा मोटर्स और इसकी सहायक कंपनी शेबा प्रॉपर्टीज़ से लगभग 30 प्रतिशत के साथ-साथ टाटा कैपिटल की लगभग 13 प्रतिशत हिस्सेदारी (अल्फा टीसी होल्डिंग पीटीई की 8.7 प्रतिशत और टाटा कैपिटल ग्रोफ फंड I से 4.3 प्रतिशत) खरीदेगी। इस ट्रान्जेक्शन में टाटा मोटर्स और टाटा समूह के सहयोगी टाटा टेक्नोलॉजीस में लगभग 43 प्रतिशत के महत्वपूर्ण माइनॉरिटी हित को बनाए रखना जारी रखेंगे, जिसमें से शेष स्वामित्व प्रबंधन टीम तथा अन्य हितधारकों द्वारा रखा जाएगा।

टाटा टेक्नोलॉजीस, इंजीनियरिंग सेवाओं तथा उत्पाद विकास आईटी सेवा में वैश्विक लीडर है जिसमें 23 देशों में स्थित 8,500 से अधिक कर्मचारी काम करते हैं। ब्लू-चिप ऑटोमोटिव, एयरोस्पेस तथा औद्योगिक मशीनरी विनिर्माताओं को बेहतर उत्पादों के निर्माण में सहायता करते हिए टाटा टेक्नोलॉजीस दुनिया को ड्राइव, फ्लाई, बिल्ड व फार्म करने में मदद करती है। अपने संतुलित ऑनशोर-ऑफशोर डिलेवरी मॉडल का लाभ लेते हुए, टाटा टेक्नोलॉजीस ने हाल ही में ऑटोमोटिव क्लाइंट्स के लिए मल्टीपल पूर्ण आउटसोर्स वाहन प्रोग्राम प्रदान किया है जो कि एक ऐसी क्षमता है जो भारत-स्थित इंजीनियरिंग सेवा कंपनियों के बीच विशिष्ट है। टाटा टेक्नोलॉजीस के सर्विस पोर्टफोलियो में इंजीनियरिंग, शोध व विकास (ईआर&डी); उत्पाद जीवनचक्र प्रबंधन (पीएलएम) और कनेक्टेड इंटरप्राइज़ आईटी (सीईआईटी) समाधान संयोजित हैं।

“टाटा टेक्नोलॉजीस ने पिछले वर्षों में महत्वपूर्ण इंजीनियरिंग क्षमताओं का विकास किया है। यह आंशिक विनिवेश टाटा मोटर्स की मूल्यवान साझीदारों को शामिल करते हुए बनाए गए मूल्य के हिस्से का रणनीतिक मुद्रीकरण करने की योजना का एक हिस्सा है, जिसके साथ कंपनी अपने अगले वृद्धि चरण को बेहतर कर सकेगी”, टाटा मोटर्स के समूह सीएफओ सी रामकृष्णन ने कहा। श्री रामकृष्णन ने आगे जोड़ा, ”हम वारबर्ग पिन्कस के साथ कंपनी व इसेक हितधारकों के लिए अधिक बेहतर ऊंचाइयों को हासिल करने की साझेदारी करने के उत्सुक हैं।

“टाटा टेक्नोलॉजीस को इसकी बेहतर सेवा प्रस्तावों तथा उद्योग-अग्रणी इंजीनियरिंग क्षमताओं के लिए व्यापक रूप से जाना जाता है। इस कंपनी ने, अपने ग्राहकों के विनिर्माण तथा उत्पाद विकास प्रक्रिया में शामिल हो कर खातों को प्रतिस्पर्धी उद्योग में बढ़ाने की क्षमता का प्रदर्शन किया है। कंपनी की सतत वृद्धि तथा विकास में समर्थन के लिए टाटा समूह के साथ साझीदारी करते हुए हमें खुशी हो रही है। व्यापार को ऑर्गैनिक व इनऑर्गैनिक रूप से बढ़ाने व सभी हितधारकों के लिए मूल्य निर्माण में सहायता कि लिए हम टाटा टेक्नोलॉजीस की मजबूत प्रबंधन टीम को समर्थन देने और बारबर्ग पिन्कस के वैश्विक नेटवर्क तथा इंजीनियरिंग सेवाओं स्थान के पूर्व अनुभव का लाभ लेने के लिए उत्सुक हैं,” विशाल महादेविया, प्रबंध निदेशक तथा सह-मुखिया, वारबर्ग पिन्कस इंडिया ने कहा।

“यह निवेश अभी तक हमारी उपलब्धियों और अधिक महत्वपूर्ण रूप से आगे बढ़ने के लिए हमारी संभावनाओं का साक्ष्य है,” टाटा टेक्नोलॉजीस के सीईओ व एमडी, वारेन हैरिस ने कहा। “जबकि इंजीनियरिंग सेवा आउटसोर्सिंग (ईएसओ) बाजार लागत मध्यस्थता और कर्मचारियों के आवर्धन से परिपक्व हो कर अधिकाधिक हाई-एंड, रणनीतिक कार्य की दिशा में जा रहा है, टाटा टेक्नोलॉजीस इस चार्ज का नेतृत्व कर रही है। जबकि वारबर्ग पिन्कस एक प्रीमियर वैश्विक निजी इक्विटी फर्म के रूप में जिस दृष्टिकोण और अंतःदृष्टि का प्रस्ताव करती है, हमें विश्वास है कि हम ना केवल मूल्य श्रंखला में ऊपर जाएंगे बल्कि अपनी वृद्धि यात्रा को भौतिक रूप से तेज कर पाएंगे,” श्री हैरिस ने आगे जोड़ा।

“टाटा टेक्नोलॉजीस ने हमारे निवेश के पिछले छः वर्षों में अपने मार्की क्लाइंट बेस द्वारा प्रशंसित एक उच्च गुणवत्ता इंजीनियरिंग सेवा समाधान का प्रदर्शन किया है। यह कंपनी हमारी अपेक्षाओं के अनुरूप आगे बढ़ी है और इस फंड के लिए उद्योग-अग्रणी निवेश लाभ प्रोफाइल प्रदान करेगी,” टाटा कैपिटल ग्रोथ फंड I के प्रबंधन साझीदार, अखिल अवस्थी ने कहा।

सिटीग्रुप ग्लोबल मार्केट्स इंडिया तथा टाटा कैपिटल इन्वेस्टमेंट बैंकिंग ने टाटा कैपिटल के एकमात्र वित्तीय सलाहकार के रूप में कार्य किया। यह ट्रान्जेक्शन जरूरी विनियामक अनुमोदनों से विषयित है।